Advertisements

Thursday, 20 April 2017

क्या आपको पता हैं राकेश शर्मा के बारे में ये 10 बातें ? GKtree


दोस्तो आज हम बात करेंगे भारतीय अंतरिक्ष यात्री राकेश शर्मा की। जानेंगे उनके बारे में वो 10 बातें (10 facts about Rakesh Sharma) जो हर किसी को पता नहीं होती। राकेश शर्मा पहले भारतीय अंतरिक्ष यात्री हैं ( Rakesh Sharma - First Indian To Go Into Space) ये तो काफी लोगों को पता होगा लेकिन आज हम जानेंगे उससे कुछ ज्यादा।
Rakesh Sharma First Indian To Go Into Space

1. सबसे पहले उनके जन्मस्थान की बात करें तो उनका जन्म 13 जनवरी 1949 को पटियाला में हुआ। उनकी शिक्षा हैदराबाद में पूरी हुई। 
2. उनके करियर की शुरुआत नेशनल डिफेन्स अकादमी में उनके चयन के साथ हुई। एनडीए में पढाई पूरी के बाद शर्मा का चयन इंडियन एयरफोर्स में टेस्ट पायलट के तौर पर हो गया। 
3. देखते ही देखते उन्होंने वायुसेना में अपनी एक जगह बना ली। उन्होंने पाकिस्तान के साथ हुए कई युद्ध ऑपरेशन में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। 
4. फिर सन 1982 में रूस के तत्कालीन राष्ट्रपति ने इंदिरा गाँधी को इस अंतरिक्ष मिशन का प्रस्ताव दिया। दरअसल उससमय रूस और अमेरिका के सम्बन्ध बिलकुल युद्ध जैसे चल रहे थे तो कुछ लोग इस प्रस्ताव को राजनैतिक भी मानते हैं। तो इसमें दो भारतीय राकेश शर्मा व रवीश मल्होत्रा का बैकअप के तौर पर 20 सितम्बर  1982 को चयन हो गया। अभियान सोयुज 11 इसरो और सोवियत इंटरकॉस्मॉस अंतरिक्ष प्रोग्राम का मिला जुला अभियान था। 
Rakesh Sharma Indira Gandhi GKtree

5.  2 अप्रैल 1984 को सोयुज T 11 नामक अंतरिक्ष शटल से राकेश अंतरिक्ष में चले गए और वो पहले अंतरिक्ष में जाने वाले भारतीय बन गए। 
6. बाहरी अंतरिक्ष में उनके रहने की बात करें तो वो वहां करीब 7 दिन 21 घंटे 40 मिनट रहे। 
7. अंतरिक्ष अभियान पर जब भी कोई क्रू जाता है तो सभी यात्रियों को कुछ न कुछ काम की जिम्मेदारी के साथ भेजा जाता है। राकेश शर्मा ने बायोमेडिसिन व रिमोट सेन्सिंग के उपर कुछ शोध किया। 
8. फिर अंतरिक्ष यान से ही एक प्रेस कांफ्रेंस आयोजित हुई जिसमे कुछ रुसी पदाधिकारी व इंदिरा गाँधी ने पृथ्वी से हिस्सा लिया। तो इंदिरा ने राकेश पर काफी गर्व प्रकट किया। 
9. तो फ़ोन पर इंदिरा ने राकेश से पूछ लिया की हमारा देश भारत अंतरिक्ष से कैसा दिख रहा है? तो राकेश ने जवाब में गाना गा दिया - सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तान हमारा। 
10. अंतरिक्ष यात्रा से वापस आने पर रुसी सरकार ने राकेश शर्मा को हीरो ऑफ़ सोवियत यूनियन नामक एक पुरुस्कार से सम्मानित किया। भारत ने भी राकेश के तब तक के योगदान के चलते अशोक चक्र से राकेश शर्मा को सम्मानित कर दिया। 
तो यह थे राकेश शर्मा जी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण पहलू। बहुत मेहनती थे मिशन से पहले उन्हें रुसी भाषा नहीं आती थी लेकिन ट्रेनिंग के दौरान वो रुसी भाषा भी बोलना सीख गए थे। बाद में राकेश शर्मा विंग कमांडर के पद से भारतीय वायुसेना से रिटायर हो गए फिर हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड में अपनी सेवाएँ दी। 
आजके आर्टिकल में इतना ही अगर आपको अच्छा लगा हो तो LIKE SHARE COMMENT जरूर करें।

अन्य महत्वपूर्ण जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक्स पर क्लिक करिये :

Share this article :

0 comments:

Post a comment