Advertisements

Saturday, 17 June 2017

तेजस एक्सप्रेस के बारे में जानकारी


दोस्तो हाल ही में 24 मई 2017 को भारतीय रेलवे ने एक नई बहुत ही अच्छी सुविधाओं से युक्त ट्रेन शुरू की। आज हम इस ट्रैन के बारे में विस्तार से जानेंगे की यह कहाँ से कहाँ तक शुरू की गयी है व इसमें यात्री को क्या क्या सुविधा मिलती हैं ?
Tejas Express in Hindi

तेजस एक्सप्रेस केटेगरी की ट्रैन पहली बार भारतीय रेलवे ने अधिक स्पीड और अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ शुरू की है। इस ट्रेन को पहली बार हरी झंडी 24 मई 2017 को मिली और इसने अपने पहले दिन मुंबई CST से करमाली गोवा के सफर को 8 घंटे 30 मिनट में पूरा किया। इन दोनों स्टेशन के बीच लगभग 551.7 किलोमीटर की दुरी है यानि ट्रैन की स्पीड काफी अच्छी रही। भारतीय रेलवे के अनुसार ट्रेन की औसत स्पीड इस ट्रैक पर 130 किलोमीटर प्रति घंटा के आसपास रहेगी और कुछ कुछ जगह पर ट्रेन की स्पीड 180 किलोमीटर प्रति घंटा की निर्धारित सीमा को भी छुएगी। 
अब बात करते है की इस ट्रैन में क्या क्या सुविधाएँ हैं ?
  • ट्रैन में यात्री को खाना दिया जायेगा। 
  • ट्रैन में CCTV कैमरे लगे हुए हैं जिससे यात्रियों की सुरक्षा का ध्यान रखा जायेगा। 
  • ट्रैन में धुंए और आग का पता लगाने के लिए भी उपकरण लगे हुए हैं। 
  • ट्रैन में wifi की सुविधा के साथ हर व्यक्ति की सीट पर एक LED टीवी डिस्प्ले स्क्रीन लगी हुई है जिससे यात्रा में एंटरटेनमेंट की कमी को भी पूरा किया गया है। इस डिवाइस पर हेडफोन जो की रेलवे ने ही दिए हैं उनको लगाकर आप अपना मनोरंजन कर सकते हैं। ऐसा किसी भी भारतीय रेल में पहली बार है।
  • ट्रैन में मिल रही खाने की सुविधा से अलग ट्रैन के हर कोच में चाय और कॉफी की वेंडिंग मशीन भी लगी हुई है जिसमे आप जब चाहे तब चाय व कॉफी पी सकते हैं। 
  • यात्रियों को मैगज़ीन व न्यूज़ पेपर भी उपलब्ध कराये जायेंगे। 
Tejas Express GKtree

कुल मिलाकर इस समय की जबरदस्त ट्रैन है ये। और किराया देखें तो शताब्दी से 20 प्रतिशत अधिक तय किया गया है। अगर आप AC चेयर कार से मुंबई से गोवा जा रहे हैं तो आपको 1190 रूपये का टिकट खरीदना होगा जिसके अंदर खाने पीने की सुविधाओं के साथ बाकि की ये सभी सुविधाएं मिलेंगी तो मेरे हिसाब से ये जबरदस्त है। 
अभी यह ट्रैन मुंबई गोवा ट्रैक पर चल रही है बाद में ऐसा बताया जा रहा है कि यह ट्रैन कुछ अन्य ट्रैक पर भी चलेगी। सबसे ज्यादा ख़ुशी की बात तो यह है की यह ट्रैन भारत में ही बनी है। इसके कोच रेल कोच फैक्टरी कपूरथला में बनकर तैयार हुए। 
आज के आर्टिकल में इतना ही। अच्छा लगा हो तो लाइक शेयर और कमेंट जरूर करें। यह आर्टिकल परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए लिखा गया है।

Share this article :

0 comments:

Post a comment