Advertisements

Saturday, 17 June 2017

कौन है इमैनुएल मैक्रॉन ?


दोस्तों अखबारों और आजकल के प्रश्न पत्रों में यह नाम आजकल काफी चर्चा में है। आइए जानते हैं कि कौन है इमैनुएल मैक्रॉन? हिंट यह है कि यह व्यक्ति फ़्रांस से जुड़ा हुआ है। आइए इनके बारे में ज्यादा जानते हैं।

Emmanuel Macron in Hindi

तो दोस्तो यह नाम फ़्रांस में तो काफी नाम से चर्चा में है लेकिन जब 14 मई 2017 को इमैनुएल मैक्रॉन फ़्रांस के राष्ट्रपति बने तो यह नाम वैश्विक चर्चा में शामिल हो गया। तो मैक्रॉन इस समय फ़्रांस के राष्ट्रपति हैं। इनसे पहले फ़्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसुआ हॉलैंड थे। इससे पहले मैक्रॉन फ्रांसुआ हॉलैंड की गवर्नमेंट के समय फ़्रांस के प्रधानमंत्री थे लेकिन फ़्रांस की सरकार अमेरिका जैसे राष्ट्रपति के प्रतिनिधित्व में अधिक कार्य करती है इसलिए यह उस समय फ्रांसुआ हॉलैंड के तुलना में विश्व भर में उतने नहीं जाने जाते थे। 
फ़्रांस के राष्ट्रपति होने के साथ साथ मैक्रॉन अंडोरा जो की फ़्रांस और स्पेन के बीच में पड़ता है वहां के सहराजकुमार भी हैं। राजनीती में आने से पहले मैक्रॉन एक सिविल सर्वेंट और इन्वेस्टमेंट बैंकर के तौर पर भी कार्य कर चुके हैं। मैक्रॉन पहले सोशलिस्ट पार्टी नामक राजनैतिक दल से जुड़े हुए थे। बाद में 2009 में अपने दम पर निर्दलीय मैदान में उतरे और फिर 2016 में अपनी राजनैतिक पार्टी का गठन कर लिया। 'एन मार्चे ' नामक दल का गठन 2016 में मैक्रॉन ने किया और वह इसके तले ही 2017 का यह चुनाव लड़े। एन मार्चे का गठन अप्रैल 2016 में किया और नवम्बर 2016 में अपने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनने की घोषणा कर दी। फिर 07 मई 2017 का राष्ट्रपति चुनाव मैक्रॉन ने जीत लिया। और 14 मई को राष्ट्रपति पदभार संभाल लिया। फ़्रांस के इतिहास में पहली बार कोई इतनी कम उम्र (39 साल) में राष्ट्रपति बना। इसलिए मैक्रॉन फ़्रांस के सबसे युवा राष्ट्रपति हैं। 
इमैनुएल मैक्रॉन का पूरा नाम इमैनुएल जीन-माइकल फ्रेडरिक मैक्रॉन है। उनका जन्म 21 दिसंबर 1977 को फ़्रांस की अमेंस जगह पर हुआ। उनके पिता जीन-माइकल फ्रेडरिक मैक्रॉन यूनिवर्सिटी ऑफ़ पिकार्डी में न्यूरोलॉजी के प्रोफेसर थे। इमैनुएल मैक्रॉन की माँ फ्रांकोइस नोगुएस भी अमेंस में एक डॉक्टर थीं। इमैनुएल मैक्रॉन की पत्नी ब्रिगिट मैक्रॉन एक हाईस्कूल टीचर थी। और अब फ़्रांस के वर्तमान राष्ट्रपति की धर्मपत्नी। 
आज के आर्टिकल में इतना ही। पढ़ने के लिए धन्यवाद। 
GK Games and their host places

Share this article :

0 comments:

Post a comment